|   झारखंड और जम्‍मू-कश्‍मीर में 5 चरणों में चुनाव, 23 दिसंबर को होगी वोटों की गिनती: ...     |   गडकरी रेस से बाहर, फडणवीस बन सकते हैं महाराष्ट्र के CM!: ...     |   पहली बार PM ने मनाई जवानों के साथ दिवाली: ...     |   पूर्ण मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी 31 मार्च, 2015: ...     |   महाराष्ट्र और हरियाणा में BJP पूर्ण बहुमत की ओर: ...     |   एशियाड में भारतीय ख‍िलाड़ि‍यों का धमाल, आज 2 गोल्ड: ...     |   आय से अधिक संपत्ति केसः जेल गईं तमिलनाडु की CM जयललिता: ...     |   पहली कोशिश में मंगल पर पहुंचा भारत, PM बोले- मंगल को मिली MOM: ...     |   दिल्ली चिड़ियाघर में बाघ ने किया हमला, युवक की मौत: ...     |   तीन पूर्व प्रधानमंत्रियों के दामाद, बेटा को अब विदेश दौरे की जानकारी सरकार को देनी होगी: ...    

स्मरण शक्ति कैसे बढ़ायें

किसी भी व्यक्ति के व्यक्तित्व को प्रभावशाली बनाने में एवं उस व्यक्ति को कामयाबी दिलाने में उसकी स्मरण शक्ति का बहुत बड़ा हाथ होता है। जिस व्यक्ति की स्मरण शक्ति बहुत हीं कमजोर हो जाती है उसे अपने जीवन में बहुत हीं परेशानियों का सामना करना पड़ता है। किसी भी कारण से अगर आपकी याददाश्त कमजोर हो गई है या स्मरण शक्ति क्षीण पड़ गई है तो कुछ प्राकृतिक तेल आपकी स्मरण शक्ति को वापस लाने में यानि तेज करने में बहुत हीं महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।
स्मरण शक्ति बढ़ाने  के प्राकृतिक तेल
दौनी तेल (रोजमेरी तेल): जब भी प्राकृतिक तरीकों से स्मरण शक्ति बढ़ाने की बात होती है, तब दौनी तेल (रोजमेरी तेल) का नाम सर्वप्रथम आता है। इस तेल को दौनी के पत्तों से निकाला जाता है जिसमें बहुत हीं औषधीय गुण होते हैं। इसमें मष्तिष्क की शक्ति बढ़ाने के गुण होते हैं जिसकी वजह से इसे ब्रेन टोनिक भी कहा जाता है। इसके तेल का उपयोग स्मरण शक्ति बढ़ाने के लिए सदियों से किया जाता रहा है। इसकी तीखी खुशबू की वजह से लोग इसे खाना पकाने के काम में भी लाते हैं। इसकी खुशबू के कारण इसे सुगंध चिकित्सा में भी इस्तेमाल किया जाता है। इसकी तीखी खुशबू आपके मष्तिष्क को उत्प्रेरित करती है जिसकी वजह से आपके दिमाग की कार्यक्षमता बढ़ जाती है तथा आपकी एकाग्रता बढ़ती है जिनकी वजह से आप अपने काम पर अच्छी तरह से ध्यान लगा पाते हैं।
मछली का तेल: मछली को दिमाग का आहार माना जाता है क्योंकि उसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड्स प्रचूर मात्रा में पाए जाते है। ओमेगा 3 फैटी एसिड्स मष्तिष्क के लिए बहुत जरुरी हैं एवं इनके सेवन से आपका दिमाग तेज होता है एवं स्मरण शक्ति बहुत हद तक बढ़ जाती है। मछली का तेल इन्हीं ओमेगा 3 फैटी एसिड्स से प्राप्त किया जाता है जो ब्रेन टॉनिक का काम करता है। यह तेल प्राकृतिक रूप से आपकी स्मरण शक्ति कमजोर होने से रोकता है साथ ही साथ आपकी एकाग्रता, बुद्धिमता, तर्क करने की शक्ति इत्यादि को भी बढ़ाता है।
अलसी (फ्लेक्स सीड) का तेल: अलसी के तेल में भी ओमेगा 3 फैटी एसिड्स प्रचूर मात्रा में पाए जाते हैं। इसके सेवन से भी मछली के तेल जितना हीं फायदा मिलता है। अलसी का तेल आपकी एकाग्रता बढ़ाता है, आपकी स्मरण शक्ति तेज करता है तथा सोचने समझने की शक्ति को भी बढ़ाता है।
दालचीनी का तेल: दालचीनी का तेल भी स्मरण शक्ति बढ़ाने में काफी प्रभावकारी होता है। यह तेल कोलेस्ट्रोल को कम करता है जिसकी वजह से आपका मष्तिष्क तेजी से काम करता है। यह तेल आपके दिमाग को ठंडक पहुंचाता है जिसकी वजह से आपका दिमाग शांत होता है तथा छोटी मोटी बातों पर तुरंत उत्तेजित या क्रोधित नहीं होता। यह तेल आपके दिमाग को ठीक करते हुए आपकी स्मरण शक्ति को बढ़ाता है।
ऋषि तेल (सेज आॅइल): ऋषि तेल (सेज आॅइल) एक ऐसा प्राकृतिक तेल होता है जो स्मरण शक्ति का ह्रास होने से रोकता है। इसका पौधा पुदीने के एक परिवार का ही एक सदस्य है जिससे इस तेल को प्राप्त                किया जाता है।
स्मरण शक्ति बढ़ाने में यह तेल बहुत हीं प्रभावकारी माना जाता है।

  • Share/Bookmark
You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply

  (To Type in English, deselect the checkbox. Read more here)